-->
--

कड़वा सच, हम उन्हे ही रुलाते हैं , जो हमेशा हमारी परवाह

हिन्दी सुविचार

हिन्दी सुविचार



हिन्दी सुविचार, अनमोल विचार


कड़वा सच

हम उन्हे ही रुलाते हैं , जो हमेशा हमारी परवाह करते हैं..
( माता / पिता / पत्नी )

हम उनके लिए रोते है, जो हमारी परवाह नहीं करते..
(औलाद ) 

और हम उनकी परवाह करते हैं , जो हमारे लिए कभी भी नहीं रोयेगें ...!
( समाज )
_____________________________________

Hindi Suvichar, Anmol Vichar


kadava sach

ham unhe hee rulaate hain , jo hamesha hamari parvaah karte hain..
( maata / pita / patni )

hum unke liye rote hai, jo hamari parvaah nahin karate..
(aulaad ) 

aur ham unki parvaah karte hain , jo hamaare liye kabhi bhi nahin royegen ...!
( samaaj )

Advertisement
Post Comments ()