क्यों अधूरी ज़िन्दगी जीते है हम, आख़िर हर कोई

Hindi Shayari

Hindi Shayari
Hindi Shayari


क्यों अधूरी ज़िन्दगी जीते है हम, 
आख़िर हर कोई परेशान क्यों है...

अगर जीना ही है मरने के लिए, 
तो.. ज़िन्दगी एक वरदान क्यों है...

गुलशन है अगर सफ़र ज़िन्दगी का, 
तो.. फिर इसकी मंज़िल समसान क्यों है...

अच्छे कर्म करने है ज़िन्दगी मे, 
तो.. बुराई का रास्ता इतना आसान क्यों है...

जब जुदाई ही है प्यार का मतलब, 
तो.. फिर प्यार करने वाला हैरान क्यों है...

कभी ना मिलेगा जो उससे ही लग जाता है दिल, 
आख़िर दिल इतना नादान क्यों है...!
❤️❤️❤️

kyon adhooree zindagee jeete hai ham, 
aakhir har koee pareshaan kyon hai...

agar jeena hee hai marane ke lie, 
to.. zindagee ek varadaan kyon hai...

gulashan hai agar safar zindagee ka, 
to.. phir isakee manzil samasaan kyon hai...

achchhe karm karane hai zindagee me, 
to.. buraee ka raasta itana aasaan kyon hai...

jab judaee hee hai pyaar ka matalab, 
to.. phir pyaar karane vaala hairaan kyon hai...

kabhee na milega jo usase hee lag jaata hai dil, 
aakhir dil itana naadaan kyon hai...!
❤️❤️❤️

Download

Post a Comment

0 Comments