-->
--

पेंंसिल की बहुत गलतियां माफ है, मगर पेंन

हिन्दी सुविचार

हिन्दी सुविचार
हिन्दी सुविचार




पेंंसिल की बहुत गलतियां माफ है,
मगर पेंन पर जिम्मेदारीयों का बोझ बहुत है..!!
😐😐😐

शहर से बेहतर तो मेरा गांव है साहब,🙂
जहां मकान नम्बर से नही
पिता के नाम 👨🏻 से जाने जाते है..!!
🙏🙏🙏


pennsil kee asankhy galatiyaan maaph hai,
magar penn par jimmedaareeyon ka bojh bahut hai..!!
😐😐😐

shahar se behatar to mera gaanv hai saahab,🙂
jahaan makaan nambar se nahee

pita ke naam 👨🏻 se jaane jaate hai..!!
🙏🙏🙏

Download
Advertisement
Post Comments ()