-->
--

अजीब सी दास्तां होती है दोस्ती की,मिलने से


अजीब सी दास्तां होती है दोस्ती की,
मिलने से ज़्यादा लड़ना अच्छा लगता है..!!

मनाने वाले भी होते है कुछ,
और कुछ को चिढाना अच्छा लगता है..!!

दोस्तो के मुंह से कुछ सुनने के लिए,
कभी झुक जाना भी अच्छा लगता है..!!

सफ़र ट्रेन का हो या ज़िंदगी का,
दोस्तो में बैठ कर मुस्कुराना अच्छा लगता है..!!

दोस्त मिले तो लगता है कि मिल गई दुनिया,
बाक़ी सब कुछ भूल जाना अच्छा लगता है..!!

दुआ है कि हम हमेशा एक साथ रहे,
यारो तुम्हारे साथ जीना अच्छा लगता है...!!


ajeeb see daastaan hotee hai dostee kee,
milane se zyaada ladana achchha lagata hai..!!

manaane vaale bhee hote hai kuchh,
aur kuchh ko chidhaana achchha lagata hai..!!

dosto ke munh se kuchh sunane ke lie,
kabhee jhuk jaana bhee achchha lagata hai..!!

safar tren ka ho ya zindagee ka,
dosto mein baith kar muskuraana achchha lagata hai..!!

dost mile to lagata hai ki mil gaee duniya,
baaqee sab kuchh bhool jaana achchha lagata hai..!!

dua hai ki ham hamesha ek saath rahe,
yaaro tumhaare saath jeena achchha lagata hai...!!



Download img
Advertisement
Post Comments ()