-->
--

कुछ रिश्ते उम्र भर अगर बेनाम रहे तो ही अच्छा है, आँखों आँखों में...

Hindi shayari

Hindi shayari
Hindi shayari


कुछ रिश्ते उम्र भर अगर बेनाम रहे तो ही अच्छा है, 
आँखों आँखों में ही कुछ पैगाम रहे तो ही अच्छा है, 

सुना है मंज़िल मिलते ही उसकी चाहत मर जाती है, 
गर ये सच है तो फिर हम नाकाम रहें तो ही अच्छा है, 

जब मेरा हमदम ही मेरे दिल को न पहचान सका, 
फिर ऐसी दुनिया में हम गुमनाम रहे तो ही अच्छा है..।
👍🏻👍🏻👍🏻

kuchh rishte umr bhar agar benaam rahe to hee achchha hai, 

aankhon aankhon mein hee kuchh paigaam rahe to hee achchha hai, 


suna hai manzil milate hee usakee chaahat mar jaatee hai, 

gar ye sach hai to phir ham naakaam rahen to hee achchha hai, 


jab mera hamadam hee mere dil ko na pahachaan saka, 

phir aisee duniya mein ham gumanaam rahe to hee achchha hai...

👍🏻👍🏻👍🏻

Download
Advertisement
Post Comments ()